आप पिछले जन्म में क्या थे ?




ज्यादतर लोग ये जानना चाहते हैं, कि वो पिछले जन्म में क्या थे। अक्सर ऐसा होता है कि हमारी जिंदगी में जब कभी भी परेशानी आती है तो ये सोचते हैं कि ये हमारे पिछले जन्म का फल है। ज्योतिषों के मुताबिक इस जन्म के सुख-दुख का संबंध पूर्वजन्म से भी होता है। वैसे ज्योतिषों के मुताबिक आप चाहे तो खुद भी पता लगा सकते हैं कि आप पिछले जन्म में क्या थे। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार अगर आपकी कुण्डली में गुरु लग्न यानी पहले घर में बैठा है तो यह समझना चाहिए कि पूर्वजन्म में आप किसी विद्वान परिवार में जन्मे थे। अगर आपकी जन्मपत्री में गुरु पांचवें, सातवें या नवम घर में बैठा है तो यह संकेत है कि आप पूर्व जन्म में धर्मात्मा, सद्गुणी एवं विवेकशील रहे होंगे। उसके प्रभाव से इस जन्म में भी आप पढ़ने लिखने में होशियार होंगे।